गुरुवार, 9 जनवरी 2014

मेरा भारत, मैं भारत का (Not India)

मेरा भारत, मैं भारत का (Not India)
यह सम्बन्ध बनता है, देश व समाज की जड़ों से जुड़कर।
क्या आप भी स्वयं को देश की जड़ों से जुड़ा पाते हैं ? तो आपका यहाँ स्वागत है !
https://www.facebook.com/groups/189817947851269/
(भारत व इंडिया में अंतर क्या है, जाने ?)
वो जो कभी ज्ञान विज्ञान से विश्व गुरु और सोने की चिड़िया था। 
प्रकृति से जिसका समन्वय ब्रह्माण्ड जिसे नतमस्तक था॥
मेरे पुरखों की भूमि है इसकी माटी में खेला
इसकी संस्कृति गुण दोष सभी हैं अपने
जुड़े हुए हैं इस धरती से मेरे जीवन के सपने
कोई चोट इसे पहुंचे तो टीस ह्रदय में होती है
सरकार ही देश को लूट रही; इण्डिया की जनता सोती है ॥1॥
भारत माता के बेटों ने जिसपर जीवन वार दिया
आज उसी धरती पर उनको जिहादियों ने मार दिया
न मानवता वादी ही बोले न ही सरकार बचाने आई
क़ानूनी अधिकार मिला है कि गौ हत्या करें कसाई
ये भारत कैसे हो सकता है; इसी को इण्डिया कहते भाई ॥2॥
जिहाद को आतंक बताने पर खून का रंग समान करें
फिर किस कारण आतंक का लाकर भगवा रंग धरें
कितने आन्दोलन कुचले जाते हिन्दू चुपचाप है मारे जाते
गुजरात में आतंकी भी मरे तो मानवतावादी सब जग जाते
हाय तोबाँ चहुँ ओर मची है तथा सारे इण्डियन कर रहे दुहाई ॥3॥
भारत नहीं ये इंडिया है मेरा भारत कहीं खो गया
वसुधैव कुटुम्बकम से वंचित जगत ये सारा हो गया
मानव हित अब पाखंड हुआ सत्यमेव भी खंड खंड हुआ
पर्यावरण प्रकृति को लूटते ये विश्व सभी बाज़ार हुआ
सारे ब्रह्माण्ड की रक्षा करने 'वो भारत' ढूँढ की करो दुहाई ॥4॥
-तिलक राज रेलन YDMS
इतिहास को सही दृष्टी से परखें। गौरव जगाएं, भूलें सुधारें।
आइये, आप ओर हम मिलकर इस दिशा में आगे बढेंगे, देश बड़ेगा । तिलक YDMS